इंद्रमणि समूह पर आयकर की कार्रवाई समाप्त सौ करोड़ की कर चोरी उजागर

रायपुर । इंद्रमणि समूह पर आयकर की कार्रवाई गुरुवार देर रात पूरी हो गई। कार्रवाई में विभाग को करीब सौ करोड़ की कर चोरी सामने आई है। जानकारी के अनुसार विगत चार दिन से इंद्रमणि समूह के 15 ठिकानों पर की जा रही सर्च की कार्रवाई गुरुवार को पूरी हो गई। सर्च के दौरान विभाग को काफी मात्रा में बेनामी दस्तावेज मिले है जिससें बेनामी सम्पति  कानून की कार्रवाई भी हो सकती है। जत दस्तावेजों के अनुसार काफी बड़ी संया में फर्जीवाड़ा किया गया है। जिससें विभाग को सौ करोड़ की कर चोरी उजागर हुई है। यह कर चोरी विगत 7-8 वर्ष की अवधि के दौरान की है। सुधीर से हो रही पूछताछ आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार को भी सुधीर अग्रवाल से काफी पूछताछ की जिसमें कई चौकानें वाले तथ्य भी टीम के सामने आए है। हांलाकि विभाग ने उन तथ्यों की कोई जानकारी नही दी है लेकिन माना जा रहा है कि इससे कई और लोग आयकर विभाग के रडार पर आ सकते हैं। मंत्री का भाई भी शामिल इंद्रमणि समूह के ठिकानों पर की गई सर्च की कार्रवाई में छत्तीसगढ़  सरकार के एक कैबिनेट मंत्री के भाई यशवंत अगवाल के भी इस समूह के साथ रिश्तें सामने आए है आयकर विभाग ने उनके ठिकानों पर भी सर्च की कार्रवाई की है। यशवंत अग्रवाल ने इंद्रमणि समूह की कुछ कपंनियों में साझेदारी भी की हुई है। बेनामी संपति  की आशंका आयकर विभाग को सर्च के दौरान जो बेनामी दस्तावेज मिले हे उसकी जांच के बादयह सम्पति  बेनामी के दायरे में आ सकती है अगर ऐसा हुआ तो बेनामी सम्पति  मामलें में यह छत्तीसगढ़  का पहला प्रकरण होगा है।